Saturday, June 1, 2013


मेरे गुरुदेव की मुझ पर, कृपा एक बार हो जाए...

मेरे गुरुदेव की मुझ पर, कृपा एक बार हो जाए,
लगा लूँ रज मैं चरणों की, मेरा उद्धार हो जाए...

मैं सेवक हूँ गुरुदेवा, लगा तन मन करूँ सेवा,

जगा दो ज्ञान की ज्योति, चमन गुलज़ार हो जाए,
मेरे गुरुदेव की मुझ पर...

दया के आप हो सागर, समझ लो मुझ को भी गागर,

बहा दो प्रेम की गंगा, तो बेड़ा पार हो जाए,
मेरे गुरुदेव की मुझ पर...

फँसे है मोह माया में, बिठा लो चरण छाया में,

शरण तेरी जो आ जाए, कमाल गुलज़ार हो जाए

मेरे गुरुदेव की मुझ पर, कृपा एक बार हो जाए,

लगा लूँ रज मैं चरणों की, मेरा उद्धार हो जाए...

Mere Gurudev ki mujh par kripa ek baar ho jaye

Mere Gurudev ki mujh par kripa ek baar ho jaye,
Laga lu raj main charno ki, mera uddhar ho jaye,

Main sewak hu Gurudeva, laga tan man karun sewa,

Jaga do gyan ki jyoti, chaman gulzaar ho jaye,
Mere Gurudev ki mujh par...

Daya ke aap ho sagar, samajh lo mujh ko bhi gagar,

Baha do prem ki ganga, to beda paar ho jaye,
Mere Gurudev ki mujh par...

Fase hai moh maya me, bitha lo charan chhaya me,

Sharan teri jo aa jaye, kamal gulzaar ho jaye,

Mere Gurudev ki mujh par kripa ek baar ho jaye,

Laga lu raj mai charno ki, mera uddhar ho jaye,

1 comment:

  1. Kripa banaye rakhana,,,yahi prartthana hai guruvar

    ReplyDelete